Wednesday, November 29, 2023
Google search engine
होमदेशअब राजीव गांधी नहीं मेजर ध्यानचंद के नाम से दिया जाएगा खेल...

अब राजीव गांधी नहीं मेजर ध्यानचंद के नाम से दिया जाएगा खेल रत्न अवार्ड

स्टोरी हाईलाइट्स
राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड का बदला नाम
अब मेजर ध्यानचंद खेल रत्न अवार्ड  
1991-92 में अवार्ड की शुरुआत

भारत सरकार ने खेल रत्न अवार्ड के नाम से राजीव गांधी हटा दिया है।  अब इसका नाम हॉकी के जादूगर Major Dhyan Chand के नाम पर रखा गया है।  अब इसका नाम मेजर ध्यानचंद खेल रत्न अवार्ड रखा गया है।  इस बात की जानकारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद ट्वीट कर देश की जनता को दी।  टोक्यो ओलंपिक में हॉकी में भारत के दोनों टीमों के शानदार प्रदर्शन के बाद भारत सरकार का यह फैसला हॉकी खिलाड़ियों को एक सम्मान देता है।

अब Major Dhyan Chand खेल रत्न अवार्ड

पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा कि कई देशवासियों का आग्रह आया है कि खेल रत्न पुरस्कार का नाम Major Dhyan Chand जी के नाम पर रखा जाए।  इसलिए लोगों की भावनाओं का ख्याल रखते हुए इसका नाम बदला गया है।  अब इस अवार्ड का नाम मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार होगा।  इस पुरस्कार के तहत अब खिलाड़ियों को 25 लाख रुपये नगद इनाम दिया जाएगा।

मेजर ध्यानचंद थे हॉकी के जादूगर

मेजर ध्यानचंद को हॉकी का जादूगर कहा जाता है। जिसकी वजह उनका जादुई खेल है।  अपना आखिरी ओलंपिक खेलते हुए उन्होंने कुल 13 गोल दागे थे।  वहीं बर्लिन ओलंपिक, लॉस एंजेलिस और एम्स्टर्डम ओलंपिक्स में उन्होंने कुल 39 गोल दागे थे।  भारत में राष्ट्रीय खेल दिवस मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन 29 अगस्त के दिन मनाया जाताहै।   साथ ही हर साल 29 अगस्त को ही खेल जगत का सर्वोच्च पुरस्कार खेल रत्न के साथ अर्जुन और द्रोणाचार्य पुरस्कार भी इसी दिन दिए जाते हैं।

ओलंपिक में गोल्ड की लगाई थी हैट्रिक

मेजर ध्यानचंद की टीम के वक्त भारतीय हॉकी का स्वर्णिम इतिहास रहा है।  उन्होंने ओलंपिक में गोल्ड मेडल की हैट्रिक लगाई थी।  1928 एम्सटर्डम, 1932 लॉस एंजलिस और 1936 बर्लिन ओलंपिक उन्होंने गोल्ड दिलाई थी।  कहते थे हॉकी की गेंद उनकी स्टीक से चिपक जाया करती थी।  जोकि गोल पोस्ट में ही जाकर स्टीक से उतरती थी।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -
Google search engine

ताजा खबर

Recent Comments