Monday, December 11, 2023
Google search engine
होमसमाचारTokyo Olympics: महिला हॉकी टीम का कमाल, पहली बार ओलंपिक के सेमीफाइनल...

Tokyo Olympics: महिला हॉकी टीम का कमाल, पहली बार ओलंपिक के सेमीफाइनल में इंट्री

स्टोरी हाईलाइट्स
भारतीय महिला हॉकी टीम का यादगार प्रदर्शन
ओलंपिक में पहली बार सेमीफाइनल पहुंची
ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से दी मात दी

टोक्यो ओलंपिक में Hockey India  कमाल का प्रदर्शन कर रही है।  इधर भारत के पुरुष हॉकी टीम ने सेमीफाइनल में पहले से जगह बना ली है।  अब महिला हॉकी टीम भी टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुंच चुकी है।  पुरुष हॉकी टीम 41 साल के बाद ओलंपिक में सेमीफाइनल में पहुंचा है।  वहीं महिला हॉकी टीम ने ओलंपिक में पहली बार सेमीफाइनल में जगह बनाई है।  दोनों टीमों के इस शानदार प्रदर्शन को देखते हुए उम्मीद जताई जा रही है कि दोनों टीमें मेडल जरूर जीतेंगे।

Hockey India के लिए यादगार क्षण

टोक्यो ओलंपिक में चल रहे प्री-क्वार्टर फाइनल मैच में 70वें मिनट का बजर बजना Hockey India के लिए यादगार क्षण हो गया।  क्योंकि इस मैच में महिला हॉकी टीम ने ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से मात दे दी थी।  इस जीत में गोलकीपर सविता पूनिया का अहम रोल रहा, क्योंकि उन्होंने इस मैच में 9 बेहतरीन गोल बचाए।  वहीं इस मैच का एकमात्र निर्णायक गोल गुरजीत कौर ने 22वें मिनट में किया।  ऑस्ट्रेलिया की महिला टीम विश्व में चौथा स्थान रखती है।  जिसे भारतीय महिला हॉकी टीम ने मात दे दी है।

सेमीफाइनल में अर्जेंटीना से मुकाबला

प्री-क्वार्टर फाइनल में जीत मिलने के बाद अब भारत का मुकाबला सेमीफाइनल में अर्जेंटीना से 4 अगस्त को होगा।  अर्जेंटीना ने जर्मनी को 3-0 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई है।  भारतीय महिला हॉकी टीम के लिए यह मुकाबला काफी कड़ा होने वाला है।

प्री-क्वार्टर फाइनल में भारत का प्रदर्शन

मैच के पहले 20 मिनट के दौरान भारतीय खिलाड़ियों ने कुछ अच्छे मौके तो बनाए, लेकिन उसको गोल में तब्दील नहीं कर पाईं।  मैच के नौंवे मिनट में ही एक बार गोल का मौका आया लेकिन वंदना कटारिया का शॉट गोल पोस्ट से टकराकर बाहर निकल गया।  वहीं ऑस्ट्रेलिया ने भी गोल करने के कई मौके बनाए लेकिन भारत के डिफेंस को नहीं भेद पाने के कारण वो पूरे मैच में वो एक भी गोल नहीं कर पाईं।

यह भी पढ़ेः PV Sindhu ने एक बार फिर रचा इतिहास 

वहीं मैच के दूसरे क्वार्टर में ऑस्ट्रेलिया का पलड़ा कुछ देर के लिए भारी रहा।  क्योंकि पहले पांच मिनट में ही ऑस्ट्रेलियन टीम को तीन पेनल्टी कॉनर मिले।  लेकिन भारतीय गोलकीपर सविता पुनिया के डिफेंस को वो भेद नहीं सकीं।  मैच के 22वें मिनट में भारतीय महिला टीम को एक पेनल्टी कॉनर मिला, जिसको गुरजीत कौर ने गोल में तब्दील कर दिया।  उसके बाद पूरे मैच में भारत की 1-0 की बढ़त बनी रही।

1980 के बाद टीम इंडिया का बेहतरीन प्रदर्शन

इससे पहले साल 1980 के मॉस्को ओलंपिक में भारतीय महिला टीम का उत्कृष्ट प्रदर्शन रहा था।  मॉस्को ओलंपिक में कुल छह महिला टीम ने हिस्सा लिया था।  जिसमें भारत का स्थान चौथा रहा था।  एक बार फिर भारत की महिला हॉकी टीम अपना चौथा स्थान सुनिश्चित कर चुकी है।  अगर टीम इंडिया सेमीफाइनल में अर्जेंटीना को हरा देती है, तब ओलंपिक में भारत का एक और पदक पक्का हो जाएगा।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -
Google search engine

ताजा खबर

Recent Comments