Friday, December 1, 2023
Google search engine
होमसमाचारAfghanistan के छिपे खजाने पर ड्रैगन ने गड़ाई नजरें

Afghanistan के छिपे खजाने पर ड्रैगन ने गड़ाई नजरें

स्टोरी हाईलाइट्स
अफगान के खनिज पदार्थों पर चीन नजरें 
चीन की तिरक्षी नजरों से अमेरिका परेशान
लीथियम का सऊदी अरब है अफगानिस्तान

अफगानिस्तान (Afghanistan) में इन दिनों भयानक हालात हैं। तालिबानियों ने पूरे देश पर कब्जा कर लिया है। लोग देश छोड़कर भागने रहे हैं। वहीं अफगानिस्तान में छिपे अरबों रूपये के खजाने पर ड्रैगन चीन (China) नजारें गडाए बैठा है। अफगानिस्तान में भारी मात्रा में खनिज तत्व पाए जाते हैं। जिनमें लीथियम, लोहा तांबा, कोबाल्ट, सोना समेत कई प्रकार के खनिज पाए जाते हैं। अब इन बेशकीमती खनिजों पर चीन ने नजरें गड़ानी शुरू कर दी हैं।

लीथियम का ‘सऊदी अरब’ है Afghanistan

अफगानिस्तान अपने आप में खनिजों का भंड़ार है। अफगानिस्तान में लीथियम भारी मात्रा में पाया जाता है। जिसकी वजह से अफगानिस्तान को ‘सऊदी अरब’ भी कहा जाता है। लीथियम की मांग तेजी से बढ़ रही है। दरअसल, लीथियम ऐसा खनिज है जिसका उपयोग हर जगह होता है। लीथियम का प्रयोग सामान्य तौर पर लैपटाप औऱ मोबाइल की बैटरियों में किया जाता है। बता दें कि अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन (United States Department of Defense) ने खुद अफगानिस्तान के लीथियम का सऊदी अरब बनने की बात कही थी।

रेयर अर्थ एलिमेंट पर दुनिया की नजरें

रेयर अर्थ एलिमेंट खनिजों का ऐसा समूह है जिसमें 17 धातु तत्व पाए जाते हैं। इसका प्रयोग मैग्नेट बनाने में भी किया जाता है। जोकि इलेक्ट्रानिक कारें बनाने में काम आता है। रेयर अर्थ एलिमेंट से सैकड़ों की संख्या में इलेक्ट्रानिक डिवाइसें बनाई जाती हैं। जिनमें कंप्यूटर मानिटर, हार्ड ड्राईव, मोबाइल फोन कंज्यूमर प्रोडक्ट्स (Consumer Products) बनाए जाते हैं।

एक ट्रिलियन डॉलर की कीमत के संसाधन मौजूद

एक रिपोर्ट के मुताबिक अफगानिस्तान में एक ट्रिलियन डॉलर की कीमत के संसाधन मौजूद हैं लेकिन हर साल सरकार खनन से 30 करोड़ डॉलर का रेवेन्यू खो देती है। दरअसल, खराब संसाधन व पर्याप्त सुरक्षा के न होने से अफगानिस्तान सरकार इससे ज्यादा लाभ नहीं कमा पाती है। बता दें कि चीन दुनिया का सबसे बड़ा मैन्यूफैक्चरिंग (Manufacturing) वाला देश है। वह चाहता है कि विश्व में वही सबसे ऊपर रहे। जोकि अमेरिका को नागवार गुजरता है। इसी वजह से ड्रैगन की अफगानिस्तान पर गड़ी नजरों से अमेरिका परेशान है।

यह भी पढ़ें- KabulHasFallen: अफगानिस्तानी राष्ट्रपति भवन पर तालिबानी कब्ज़ा, देश छोड़ भागे अशरफ गनी

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -
Google search engine

ताजा खबर

Recent Comments